Culture POPcorn
Image default

Maine Maara Dhruv Ko and Hatyara Kaun : Captain Back from the Death

जब पहली बार Maine Maara Dhruv Ko and Hatyara Kaun कॉमिक्स का विज्ञापन देखा तो लगा शायद Super Commando Dhruva की यह आखिरी कॉमिक्स है और ध्रुव के पास तो अश्वराज की तरह पुनर्जन्म का वरदान भी नहीं तो फिर Dhruva को क्यों मारा जा रहा है. जब Maine Maara Dhruv Ko आयी तो इसे पढ़ा और इसके अगले पार्ट Hatyara Kaun का बड़ी बेसब्री से इन्तिज़ार रहा क्योंकि Dhruva के सभी सुपर विलेन यही कह रहे थे की ध्रुव को उन्होंने मारा है और सबकी कहानी एक से बढ़कर एक खौफनाक थी.

Maine Maara Dhruv Ko and Hatyara Kaun दोनों की कॉमिक्स विशेषांक Dhruva की ज़िन्दगी का टर्निंग पॉइंट रही है, कहानी के अनुसार ध्रुव मारा जा चुका है, लेकिन किसी को यह पता नहीं कि कैसे और किसने मारा ध्रुव को? बस फिर क्या था, Dhruva के सभी Super Villians ध्रुव के मौत की ट्रॉफी लेने के आतुर हो उठते है, सभी ध्रुव के कातिल होने का दावा करते है.

दो रहस्मयी शख्स कंकालतन्त्र और बायोट्रोन एक क्राइमकोर्ट बिठाते हैं, यह जानने के लिए कि असल में कौन है ध्रुव का असली कातिल। एक के बाद एक सभी धुरंधर ध्वनिराज, बौना वामन, ब्लैक कैट गवाही देते है और बाकी के सुपर विलेन्स डॉक्टर वायरस, चंडकाल और ग्रैंड मास्टर रोबो की गवाही Hatyara Kaun में होती है.

Maine Maara Dhruv Ko and Hatyara Kaun

Maine Maara Dhruv Ko and Hatyara Kaun की कहानी के अंत में ढेर सारे ट्विस्ट और टर्न के बाद पता चलता है कि आखिर Dhruva को किसने मारा है और साथ ही पर्दाफाश होता है कंकालतन्त्र और उसके रोबोट साथी बायोट्रोन का भी. दोनों की कॉमिक्स एकदम बाँध कर रखने वाली थी, अनुपम सिन्हा जी की कहानी और चित्रांकन देखते ही बनता है.

Raj Comics ने बाद में दोनों कहानियों के साथ महामानव की गवाही को जोड़कर एक Maine Maara Dhruv Ko and Hatyara Kaun हार्डबाउंड स्पेशल कलेक्टर एडिशन भी प्रकाशित किया जिसे फेन्स ने हाथोहाथ लिया। यह दोनों ही कॉमिक्स अपने आप में शानदार हैं और अगर आपने अभी तक नहीं पढ़ी तो आज ही पढ़िए।

YOU MAY ALSO LIKE

MythTower Entertainment coming with The One : Abhimanyu

Jonathan Upton

ComicCon 2016: The wait is over!

Abhilash Ashok Mende

Intellectual Property Thefts in India : Creatives Beware

Mohit Sharma Trendster